वक्फ की संपत्ति को किराए पर चलाने वाले होंगे ब्लैक लिस्टेड

 वक्फ की संपत्ति  को किराए पर चलाने वाले होंगे ब्लैक लिस्टेड
  • सर्वे कर तैयार की डिफॉल्टरों की लिस्ट, अब सार्वजनिक होंगे नाम

भोपाल। मप्र वक्फ बोर्ड अपनी आमदनी में इजाफा करने के लिए नित नए-नए प्रयास कर रहा है और इन प्रयासों से बोर्ड की आमदनी भी बढ़ रही है। इस कड़ी में वक्फ बोर्ड ने प्रदेश भर के वक्फ किराएदारों का सर्वे करने की योजना बनाई है। इस सर्वे के माध्यम से डिफॉल्टर किराएदारों की सूची तैयार की जा रही है। इस लिस्ट में आने वाले किराएदारों को बाहर का रास्ता दिखाकर उन्हें ब्लैक लिस्टेड किया जाएगा। ताकि उन ब्लैक लिस्टेड किराएदारों के नाम पर कोई दूसरी किराएदार न हो। साथ ही इनका कोई भी काम बोर्ड के माध्यम से न हो पाए।
इस सर्वे की शुरुआत भोपाल से की जा रही है। शहर के शाहजहांनाबाद इलाके का सर्वे किया जा चुका है। इस सर्वे में पाया गया कि अधिकतर किराएदारों ने अपने नाम से वक्फ की प्रॉपर्टी की किराएदारी करा ली और दूसरें लोगों को वह प्रॉपर्टी किराए पर दे कर मोटी रकम वसूली जा रही है। अब वक्फ बोर्ड ने इन किराएदारों को बाहर का रास्ता दिखाकर ब्लैक लिस्टेड करने की योजना बनाई है। इसके बाद इन लोगों के नाम सार्वजनिक किए जाएंगे और शहर के चौराहों पर भी इन लोगों के नामों की सूची चस्पा कराई जाएगी, ताकि ये दोबारा धोखाधड़ी कर वक्फ की किराएदारी हासिल न कर पाएं।

चार विशेष टीमें कर रहीं कार्रवाई
विभागीय सूत्रों ने बताया कि यह अभियान प्रदेशभर में जिलानुसार चलाया जा रहा है। इसके लिए विशेष तौर पर चार टीमें बनाई गई हैं। ये टीमें प्रदेशभर में वक्फ बोर्ड की संपत्ति का आकलन भी कर रही हैं। साथ ही डिफॉल्टर किराएदारों का सत्यापन कर उनके खिलाफ कार्रवाई कर रही हैं।

शहर में 6000 से ज्यादा किराएदार
विभागीय सूत्र कहते हैं कि वक्फ बोर्ड के अकेले भोपाल में ही करीब 6000 से ज्यादा किराएदार हंै। औकाफ-ए-अम्मा कमेटी ने तीन माह में जिले की वक्फ संपत्ति का आकलन कर किराएदारों की सूची भी तैयार की। इस सूची के आधार पर कमेटी के चार मेंबर की टीम रूपरेखा बनाकर डिफॉल्टर किराएदारों पर बेदखली की कार्रवाई को अंजाम दे रही है।

Sharing

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *