पहली बार घरों में अदा की जाएगी ईद की नमाज़, शहर काज़ी का ऐलान

 पहली बार घरों में अदा की जाएगी ईद की नमाज़, शहर काज़ी का ऐलान

भोपाल। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप से निपटने के लिए देशभर में लॉकडाउन किया है। लॉकडाउन के दौरान लोगों को घर में रहने के लिए लगातार जागरुक और अपील की जा रही है। इसी के चलते शहर काज़ी मुश्ताक़ अली नदवी ने बताया कि ईद उल फित्र की नमाज़ सभी मस्जिदों में पांच लोगों के साथ अदा कर ली जाए। बाकी लोग अपने घरों में ईद की नमाज़ अदा करे। हालांकि दारुल उलूम ने भी फतवा जारी कर कहा है कि लॉकडाउन के चलते घरों में ही नमाज पढ़ी जाए। दरअसल, ईद की नमाज़ ईदगाह और अन्य बड़ी मस्जिदों में लाखों लोगों के साथ अदा की जाती है। कोरोना महामारी के चलते ऐसा पहली बार देखने को मिल रहा है। जिसमें ईद की नमाज़ घरों में अदा की जाएगी।

जानकारी के मुताबिक, शहर काज़ी मुश्ताक़ अली नदवी ने बताया कि मुल्क के मौजूदा हालात में जबके मस्जिदों में 4-5 लोग ही पाँचों वक्त की नमाज अदा कर रहे हैं। बाकी लोग अपने अपने घरों में नमाज पढ़ रहे हैं। इसी तरह लॉक डाउन की वजह से नमाज ईद उल फितर तमाम मस्जिदों में सुबह छ:/सवा छ: बजे पाँच अफराद के साथ अदा कर ली जाये। बाकी लोग जो नमाज पढ़ सकते हैं वह अपने अपने घरों में पांच लोगों के साथ नमाज ईद उल फितर पढ़ें और जो लोग नमाज़ न पढ़ सकें वह अपने अपने घरों में दो या चार रकात नमाज चाश्त पढ़े। संदक दिल से तौबा करें हालाते हाजरा की दुरुस्तगी के लिए अल्लाह से दुआ करें और यह भी दुआ करें के अल्लाह इस वबा (वायरस) से सारी इंसानियत की निजात अता फरमाये। नमाज ईद के बाद खुतबा मुख्तसर तरीके पर देख कर भी पढ़ा जा सकता है। अगर खुतबा मौजूद न मिल सके तो खुतबा छोड़ा भी जा सकता है। वहीं क़ाज़ी मुश्ताक़ अली नदवी ने अपील की है ईद के दिन अपने घरवालों के साथ खुशियाँ मनाये। ईद के दिन मुसाफा और मुआनके से बचें एक दूसरे से दूरी (सोशल डिस्टेंसिग) बनाये रखें।

Sharing

Editor LCN

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *